शताधिक संस्थाओं के प्रेरणा स्रोत , राष्ट्र-ऋषि , सिंहरथ प्रवर्तक , त्रिलोकतीर्थ प्रणेता , पंचम पट्टाचार्य परमपूज्य गुरुदेव आचार्य श्री विद्याभूषण सन्मति सागर जी महाराज" के आशीर्वाद से निर्मित एवं राष्ट्रसंत सराकोद्वारक षष्ट पट्टाचार्य परमपूज्य आचार्य श्री 108 ज्ञानसागर जी महाराज के आशीर्वाद से प्रगति की और अग्रसर विश्व की.

Read More